Kitna Avagyanik Hai Jyotish
₹150.00
New

Kitna Avagyanik Hai Jyotish

3 Review(s) | Add Your Review
₹150.00
  • SKU Code:BS01293
  • Category:Books on Others
  • Availability: Out of Stock

Note : The color of the product will be slighty differ from color of the product image. Water marke of ' Bahujan Store ' will not apear on the actual products.


bahujan delivery
Delivery 5-7 days
bahujan free shipping
Order over 2500/-
*Except wholesale
bahujan product bulk order
on Bulk orders


Item Description

Kitna Avagyanik Hai Jyotish

जिस प्रकार आत्मापरमात्मा, स्वर्गनरक, पापपुण्य आदि का भय दिखा कर एक वर्ग विशेष के लोग सदियों से धर्म के धंधेबाज बने हुए हैं, उसी प्रकार राहु, केतु, मंगल, शनि आदि ग्रहों की गतियों की गणना के आधार पर व्यक्ति, व्यापार, देश आदि का भविष्य बताने का दावा कर के कुछ लोग ज्योतिषी बन बैठते हैं। इस ज्योतिषीय अंधविश्वास को समय के साथ विज्ञान सिद्ध करने में भी ये ज्योतिषी पीछे नहीं रहते, किंतु क्या वास्तव में ज्योतिष एक विज्ञान है, जिस के आधार पर की गई सभी भविष्यवाणियां सच होती हैं? अतः आज आवश्यकता है कि वर्तमान इक्कीसवीं सदी में ज्योतिषीय अंधविश्वासों और उस के कथित विज्ञान होने की पोल खोल कर जन सामान्य को सचाई से अवगत कराया जाए। इसी उद्देश्य से प्रस्तुत है यह संकलन जिस में बड़ी सीधीसादी भाषा में बड़े ही तर्क पूर्ण ढंग से ज्योतिषीय अंधविश्वासों की कलई खाेली गई है।


Additional Informations

Here are some more information related to Kitna Avagyanik Hai Jyotish having in our Books on Others category list.


Editor Rakesh Nath
Language Hindi
Book Cover Paperback
Size Standard
No. of Pages 168
Publisher Vishv Books

A Video about Product

Here is the informative video related to Kitna Avagyanik Hai Jyotish having in our Books on Others category list. For more videos related to our products, you can watch on our Youtube channel Bahujan Store


Oops! Video not available.

Kitna Avagyanik Hai Jyotish

जिस प्रकार आत्मापरमात्मा, स्वर्गनरक, पापपुण्य आदि का भय दिखा कर एक वर्ग विशेष के लोग सदियों से धर्म के धंधेबाज बने हुए हैं, उसी प्रकार राहु, केतु, मंगल, शनि आदि ग्रहों की गतियों की गणना के आधार पर व्यक्ति, व्यापार, देश आदि का भविष्य बताने का दावा कर के कुछ लोग ज्योतिषी बन बैठते हैं। इस ज्योतिषीय अंधविश्वास को समय के साथ विज्ञान सिद्ध करने में भी ये ज्योतिषी पीछे नहीं रहते, किंतु क्या वास्तव में ज्योतिष एक विज्ञान है, जिस के आधार पर की गई सभी भविष्यवाणियां सच होती हैं? अतः आज आवश्यकता है कि वर्तमान इक्कीसवीं सदी में ज्योतिषीय अंधविश्वासों और उस के कथित विज्ञान होने की पोल खोल कर जन सामान्य को सचाई से अवगत कराया जाए। इसी उद्देश्य से प्रस्तुत है यह संकलन जिस में बड़ी सीधीसादी भाषा में बड़े ही तर्क पूर्ण ढंग से ज्योतिषीय अंधविश्वासों की कलई खाेली गई है।

Additional Informations

Here are some more information related to Kitna Avagyanik Hai Jyotish having in our Books on Others category list.


Editor Rakesh Nath
Language Hindi
Book Cover Paperback
Size Standard
No. of Pages 168
Publisher Vishv Books
A Video about Product

Here is the informative video related to Kitna Avagyanik Hai Jyotish having in our Books on Others category list. For more videos related to our products, you can watch on our Youtube channel Bahujan Store


Oops! Video not available.
.